Read in App

DevBhoomi Insider Desk
• Wed, 27 Jul 2022 6:00 pm IST


क्या पाकिस्तान का भी होने वाला है श्रीलंका जैसा हाल?


श्रीलंका (Sri Lanka) की तरह हमारा पड़ोसी देश पाकिस्तान (Pakistan) भी गंभीर आर्थिक संकट के दौर से गुजर रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पाकिस्तान में महंगाई दर (Inflation Rate) पिछले एक दशक के उच्चतम स्तर पर है। देश में पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतें और बिजली के भाव भी आसमान छू रहे हैं। खबरों के मुताबिक सरकार ने देश में बिजली की दरों को बढ़ाने का फैसला लिया है। पाकिस्तान की सरकार की ओर से यह फैसला ऐसे समय में लिया गया है जब जब देश ऊर्जा संकट और हीटवेक की दोहरी मार झेलने को मजबूर है। 

पाकिस्तानी मीडिया की खबरों के मुताबिक ऊर्जा मंत्री खुर्रम दस्तगीर (Energy Minister Khurram Dastgir) ने मंगलवार को बिजली दरों को बढ़ाने की घोषणा की है। सरकार की ओर से बिजली की दरों को 7.91 रुपये प्रति यूनिट तक बढ़ाने का फैसला लिया गया। सरकार ने देश में तीन चरणों में बिजली की दरों को बढ़ाने का फैसला लिया है। पहले चरण में 26 जुलाई से बिजली दरें 3.50 रुपये प्रति यूनिट तक बढ़ाई गईं हैं। फिर अगस्त में कीमतों में 3.50 रुपये प्रति यूनिट का इजाफा किया जाएगा। उसके बाद अक्टूबर महीने में 0.91 रुपये प्रति यूनिट की दर से कीमतें बढे़ेंगी। इस तरह तीन चरणों में बिजली की दरों में 7.91 रुपये प्रति यूनिट का इजाफा किया जाएगा। कीमतें बढ़ने से पाकिस्तान में बिजली की दरें 24.80 रुपये प्रति यूनिट हो जाएंगी। दर बढ़ने से पाक में बिजली भारत (India) से लगभग चार गुना तक महंगी हो जाएगी। भारत में बिजली की दरें फिलहाल अलग-अलग राज्यों में सात से आठ रुपये प्रति यूनिट है।